लोकगाथा: लक्ष्य – बेध 9

lakshy a 9लोकगाथा: लक्ष्य – बेध 9

हिंदी रूपांतर

पूर्व के राजा थे युवनाश्व राजा।
पश्चिम दिशा के राजा थे मोरध्वज राजा।
उत्तर दिशा के राजा थे हिमाचली राजा।

दक्षिण दिशा के राजा थे तालध्वज राजा।
एक-एक कर (सबने) सर-संधान किया।
तैल की कड़ाह में कुरा सा दिखाई दिया।

श्री कृष्ण ने साथ किया अर्जुन का।
धर्मचक्र में सुदर्शन (चक्र) लगाया
(सुदर्शन) चक्र की छाया से दृष्टि (ठिकाने) न पहुँची।

किसी भी राजा का बाण लक्ष्य पर न लगा।
राजा द्रुपद ने आदेश दिया-
तुम ब्रह्मचारी, लोग लक्ष्य-बेध करो।

योद्धा अर्जुन खड़ा हो गया।
बाहु-दंड से धनुष निकाला।
सिखा की लटों से बाण। क्रमशः

Published by

drhcpathak

Retired Hindi Professor / Researcher / Author / Writer / Lyricist

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s