लोकभाषा: भूमि विषयकः

bhumiलोकभाषा: भूमि विषयकः

अधिया – बटाई पर देना
उप्राऊँ – ऊपर की जमीन जहाँ सिंचाई नहीं हो सकती
एकहलि – एक दिन में जोतने योग्य भूमि
ओ्ड़ – खेत की सीमा सूचक पत्थर
कमून – कमाया हुआ खेत
गड़ – खेत
गूँठ – देवार्पित भूमि
गूल – खेतों की नहरें
चौर तप्पड़ – चौरस भूमि
चिफ्ल – फिसलनदार
तलाऊँ – तलहटी की भूमि
तल्ल – नीचे का
पनखेत – पानी के निकट खेत
पल्ल – उधर का
बा्न्ज – बंजर
भिड़ – खेत की दीवार
मल्ल – ऊपर का
वल्ल – इधर का
सेरा – नदी के पास वाले उपजाऊ खेत
सैन – समतल

Published by

drhcpathak

Retired Hindi Professor / Researcher / Author / Writer / Lyricist

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s