कव्वाली: रीत यां की – नायिका:

reet yaan ki nayika

कव्वाली: रीत यां की – नायिका:

तेरो दुख देखिबेर,
दी सकौं लेखिबेर
त्वील लै प्यार करि होल,
कांईं इंतजार करि होल

छाड़ि गौ टोड़िबेर दिल
और की कूं मि बाकी
छ योई रीत यां की
छ योई रीत यां की

पिरीता बाट मैं एस
मोड़ लगै उनान बल
कि चांद और चकोरी
अलग रूनान बल

त्वेकैं खराब लागन्नौ
त्वेकैं अजीब लागन्नौ
तेरी हालत बतून्नै छ
कैई कि याद उन्नै छ

मनै कि जोत निमैगै
आंखा कि नीन हरैगै

भुलि ज उ अन्वार
भुलि ज उ बहार
भुलि ज उन दिना
रून सिख वीक बिना

छाड़िबेर यांकि वांकी
बत कर जांकि तांकी
छ योई रीत यां की
छ योई रीत यां की

Published by

drhcpathak

Retired Hindi Professor / Researcher / Author / Writer / Lyricist

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s