आश्वासन :

ashwasanलोकगीत : आश्वासन :

राखूंगी नैन हजूर
लली तोको दूर न दूंगी

सिरही लली के बेंदा सोहे बेंदं की छवि न्यारी
लली तोको दूर न दूंगी

कान लली के बाले सोहे मोतियन की छवि न्यारी
लली तोको दूर न दूंगी

मुंह लली के बीड़ा सोहे होंठन की छवि न्यारी
लली तोको दूर न दूंगी

गले लली के हारों सोहे माला की छवि न्यारी
लली तोको दूर न दूंगी

बांह लली के बाजू सोहे चौकी की छवि न्यारी
लली तोको दूर न दूंगी

हाथ लली के कंगना सोहे पहुंचिन की छवि न्यारी
लली तोको दूर न दूंगी

पांव लली के बिछुवा सोहे झांवरि की छवि न्यारी
लली तोको दूर न दूंगी

अंग लली के लहंगा सोहे चुनरी की छवि न्यारी
लली तोको दूर न दूंगी

Published by

drhcpathak

Retired Hindi Professor / Researcher / Author / Writer / Lyricist

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s