शक्तिमान :

shakti A 1लोककथा : शक्तिमान :

हिंदी अनुवाद :

एक चूहा था। उसकी एक ही लड़की थी, जिसका विवाह करना था। उसने कहा –
लड़की का विवाह संसार में सबसे बड़े व्यक्ति के साथ करूंगा। वह सूरज के पास
गया और बोला – ‘स्वामी ! तुम्हारे साथ अपनी लड़की का विवाह करना चाहता
हूं।’ सूरज ने कहा-‘भाई ! मैं विवाह कर लूंगा, मगर वह मेरा ताप कैसे सहेगी
? मेरा कोई घर बार नहीं है। रात दिन एक जगह से दूसरी जगह जाता रहता हूं।
चूहे ने कहा – ‘तुम्हारे साथ लड़की को कोई तकलीफ नहीं होगी। तुम शक्तिमान
हो।’ सूरज बोला – ‘नहीं भाई ! मैं शक्तिमान नहीं हूं। मैं तो रात दिन जलता
रहता हूं। तुम चन्द्रमा के पास जाओ।’

चूहा चन्द्रमा के नजदीक जाकर बोला – ‘स्वामी ! तुम्हारे साथ अपनी लड़की का
विवाह करना चाहता हूं।’ चन्द्रमा ने उसकी खातिरदारी करके कहा – ‘मुझे तो
कलंक लगा है रे ! तुम देखते हो कि मैं रात में ही बाहर जाता हूं। मैं तुम्हारी
लड़की के लिए धन दौलत कहां से लाऊंगा ?’ चूहा बोला – ‘कोई बात नहीं। मेरी
लड़की तुम्हारे साथ अच्छी तरह रहेगी। तुम शक्तिमान हो।’ चन्द्रमा ने कहा –
‘नहीं भाई ! मुझसे तो बादल ज्यादा शक्तिमान है। वह मुझे ढक देता है। तुम वहां
जाओ।’ क्रमशः

Published by

drhcpathak

Retired Hindi Professor / Researcher / Author / Writer / Lyricist

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s