संख्या बोधक :

sankhyaभाषा : 2. संख्याबोधक विशेषणः

संख्या का बोध कराने वाले विशेषणों को संख्याबोधक विशेषण कहते हैं।
इन्हें दो भागों में बाँटा जा सकता हैः

अ – निश्चित संख्यावाचकः संख्या का निश्चित बोध् कराने वाले संख्याबोधक
विशेषणों को निश्चित संख्यावाचक विशेषण कहते हैं। ये पाँच प्रकार के होते हैंः

1 – गणनात्मक ः ए्क, द्वि, तीन, चार आदि।

2 – क्रमात्मक ः पैलो्, दो्स्रो् तिस्रो्, चैथो् आदि।

3 – खण्डात्मक ः पउअ, अद्ध, डेड़, ढाई आदि।

4- गुणात्मक ः डेढ़ गुनो्, दुनो्, तीन गुनो्, चार गुनो् आदि।

5 – समूहात्मक ः दुइऔ, तीनौ, ज्वाड़, दर्जन, सब्बै आदि।

आ – अनिश्चित संख्यावाचकः संख्या का अनिश्चित बोध कराने वाले संख्याबोधक
विशेषणों को अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण कहते हैं। ये चार प्रकार के होते हैंः

1 – अनेकात्मक ः थ्वा्ड़, भौत, कतिप।

2 – अनुमानात्मक ः एकाध, दुइचार, सौ-पचास।

3 – संकेतात्मक ः चारेक, पांचेक, बीसेक।

4 – अगणनात्मक ः दर्जनों, हजारों, लाखों।

Published by

drhcpathak

Retired Hindi Professor / Researcher / Author / Writer / Lyricist

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s