यौवन :

yauvan

क्या होता है यौवन ?

विष्ठा के उत्पादक तन में
भोगों के आराधक मन में
या कि इंद्रियों के कानन में
होली का आयोजन ?

जाती पीढ़ी का अंधापन
आती पीढ़ी का आंदोलन
या अपने अपने वंशों की
मूलवृत्ति की जूठन ?

जन्मजात अधिकार व्यष्टि का
चिरनूतन कर्तव्य स्रष्टि का
या ‘एकोहं बहुस्याम’ की
इच्छा का स्पंदन ?

Published by

drhcpathak

Retired Hindi Professor / Researcher / Author / Writer / Lyricist

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s